Thursday, March 15, 2012

पाकिस्तान की बेटी का निकाह , अब हम करवाएंगे .......>>> संजय कुमार

हम भारतीय सदा से ही अपनी अनेकों  खूबियों के लिए पूरे विश्व में जाने जाते हैं ! फिर चाहे " अतिथि देवो भवः " , सभ्यता - संस्कृति - संस्कार - समर्पण -सहयोग की भावना हो ! हिन्दू- मुस्लिम एकता हो ! दुश्मन को भी गले लगाने का हुनर हम भारतियों से ज्यादा अच्छा  शायद ही कोई हो जो जानता हो , इस बात के उदाहरण तो कई हैं ! खैर अभी मुद्दे पर आते हैं ! जैसा की आप सभी जानते हैं हमारे पड़ोसी मुल्क " पाकिस्तान " को , अरे वही पकिस्तान जो कई बार हमें अपना असली रूप दिखा चुका है ! आज पकिस्तान की क्या हालत है ? ये सभी को मालूम है ! चारों तरफ दंगा -फसाद , बम बिस्फोट, निर्दोष और बेक़सूर लोगों का मारा  जाना , प्रतिदिन होती आतंकवादी गतिविधियाँ ! आज उसी पकिस्तान की एक बेटी का " निकाह " कराने का जिम्मा अब हम भारतियों ने ले लिया है ! आप सोच रहे होंगे कि, पाकिस्तान की बेटी का निकाह का जिम्मा हमारे ऊपर है , जी हाँ ये सच है ! पड़ोसी मुल्क के " दोस्ताना " ???  व्यवहार या फिर  ............... माफ़ कीजिये ............. उसके बावजूद हम ऐसा करने जा रहे हैं  ... और ये बात बिलकुल  सच है १००%  सच !  अब आप उस बेटी से भी मिल लीजिये ...... बैसे तो आप सभी उस बेटी को बहुत ही अच्छे से जानते और पहचानते हैं ! अरे वही आपकी अपनी " वीना मालिक " .......... अरे वही "  BIG BOSS " वाली,  जो अपनी अश्लील हरकतों के कारण " BIG BOSS " में हम सभी के बीच चर्चा का बिषय बनी रही ! अरे उससे पहले भी वो अपना काफी नाम कमा  चुकी थी ..... अरे भई वही बात जिससे आज विश्व के सभी " किरकेटर " डरे और सहमे हुए हैं ! जी हाँ सही पहचाना " मैच फिक्सिंग " में भी अच्छा खासा नाम कमाया है इन मोहतरमा ने ! इतनी खूबियाँ होने के बाद भी अब उस बेचारी के निकाह की जिम्मेदारी हमारे अपने एक भारतीय  टीव्ही चैनल ने ले ली है ! अब हम उसका " स्वयंवर " रचा रहे हैं ! इससे पहले भी कई " स्वयंवर " इस देश में हो चुके हैं ! अब एक और झेलने के लिए आप सभी तैयार हो जाइये ! निकाह करने के लिए पूरे विश्व से लगभग ७०००० से ज्यादा दूल्हों ने अपना आवेदन दे दिया है ! मोहतरमा उनमें से सिर्फ " सोलह दूल्हों "  को ही चुनेंगी और इन चुने हुए .. नमूनों .. माफ़ कीजिये दूल्हों का शक्ति परिक्षण होगा और उसके बाद बेचारा कोई एक " बलि का बकरा  " बनेगा ! इस निकाह से मुझे बहुत ख़ुशी महसूस हो रही है ! वो इसलिए कि, पहले भी भारत पडोसी मुल्क से आये हुए कई लोगों के साथ सच्ची मानवीयता और भाईचारा दिखा चुका  है ! वहां के कई बच्चे आज हमारे यहाँ " सिंगिंग-डांसिंग रियलिटी शो " में अपना जलवा बिखेर रहे हैं ! हम सच्ची कला के कद्रदान हैं ! हमारे अन्दर भाईचारे का भाव कूट-कूट कर भरा हुआ है ! बीमारी से पीड़ित कई बच्चों का इलाज करके हमने कई परिवारों  को उनकी खुशियाँ लौटाई हैं ! जिसके कई  उदाहरण पूरे विश्व ने देखे  है ! प्रेम- मुहब्बत के चलते तो हम अपना सिर भी हंसी - ख़ुशी  कटा सकते हैं !  फिर भले ही हमारे देश की कई बेटियां चंद रुपयों की कमी के कारण अपनी शादी की उम्र सीमा को पार कर चुकी हों , फिर भले ही एक गरीब को अपनी बेटी के विवाह के लिए एक अच्छा  वर-घर ढूँढने के लिए अपनी एडियाँ तक क्यों ना रगडनी पड़ती हो , ये एक कडवा सच है !  बेटियां किसी की भी हों बेटी तो बेटी होती है ! देश की सभी बेटियों को उनका मनपसंद जीवनसाथी मिले ! इसके लिए मैं इश्वर से प्रार्थना करता हूँ ! वीना मालिक को भी बधाई देता हूँ !
मैं गुजारिश करूंगा देश की सरकार से , देश के बड़े-बड़े चैनलों से कि, एक स्वयंवर इस देश में ऐसा होना चाहिए जहाँ उन बेटियों के लिए वर ढूंढे जाएँ जो हमारे सभ्य समाज द्वारा बहिस्कृत है ! वो बेटियां जो आज दर - दर की ठोकरें खाने को मजबूर हैं और मजबूरीबश " जिस्मफरोशी  " जैसे धंधों में लिप्त हैं ! सच कहूं तो ये स्वयंवर सस्ती लोकप्रियता पाने का आज का " फैशन " बन गया है ! 

धन्यवाद  

8 comments:

  1. आपसे सहमत हूँ, शुभकार्य को प्रचारित किया जाये।

    ReplyDelete
  2. **** अती उत्तम सोच ****
    " स्वमवर" तो पेसे लगाके पेसे कमाने की एक तरकीव बन गई हें |जिसे बड़े - बड़े चेनल वडाबा दे रहें हें क्यों की इस देश में हर व्यक्ति खुद अपने लिए जी रहा हें फिर वो वेटियों के लिए स्वमवर केसे हो |

    ReplyDelete
  3. सोलह आने सत्य है, बात बड़ी दमदार ।
    सोलह में से यह बड़ा, संस्कार इस पार ।

    संस्कार इस पार, बजे 'वीणा' शहनाई ।
    हर्षित हिन्द अपार, बहू इक औरो आई ।

    गई सानिया एक, बधाई लो अनजाने ।
    बहू सोनिया बन, सास हो सोलह आने ।।

    ReplyDelete
  4. आप आयें --
    मेहनत सफल |

    शुक्रवारीय चर्चा मंच
    charchamanch.blogspot.com

    ReplyDelete
  5. Pakistan pe hansne se pehle kyun na hum un laakhon HINDUSTAANI yuvakon pe hans lein jo usse shaadi karne ki ichhha rakhte hain..Pakistan pe hansne se pehle ek nazar desh ke aantarik dushmanon bhi daal lein jo Maovaad, Naxalvaad, bhrashtaachaa aur kai alag roopon mein mojuud hain...
    Aapke vichaar nek hain par doosron ke tinke dekhne se pehle khud ki aankh ka shehteer bhi dekh lena chaahiye...
    rakhi saawant aur rahul mahajan ka bhi aisa hi swayamvar hua tha....
    Main swayam ek Hindustaani hoon....

    ReplyDelete
  6. sahi kaha, sacha swamvar vahi hain, jo ek garib ki beti ka vivah karaye aur sahi artho me manviyta ka paricaya de.

    ReplyDelete
  7. ये स्वयंवर सस्ती लोकप्रियता पाने का आज का " फैशन " बन गया है !

    सच कहा आपने. सार्थक लेख.

    ReplyDelete