Sunday, February 12, 2012

" वेलेनटाईन डे " पर करें सभी से प्रेम का इजहार ....>>> संजय कुमार

सभी युवा साथियों को "  वेलेनटाईन डे " की बहुत बहुत शुभ -कामनाएं !  १४ फरवरी का दिन प्रेम का दिन है ! प्रेम के इजहार का दिन है ! कोई लुक-छिपकर तो कोई खुलकर इस दिन प्रेम का इजहार करता है  ! खास तौर से  इस देश का युवा , सच कहा जाय तो ये दिन हमारे देश के " कुंवारे "  युवाओं का ही है !  आज देश के सभी गिफ्ट सेंटर , माल्स , रेस्टोरेंट युवाओं के लिए दुल्हन की तरह सज चुके हैं ! दूसरी ओर कुछ संगठन युवाओं पर नजर रख रहे हैं उन्हें प्रेमालाप करते हुए रंगे हांथों पकड़ पर उनका मुंह काला करने को अपनी रणनीति तैयार कर रहे हैं ! खैर मुहब्बत के दुश्मन तो सदियों  से रहे हैं और आज भी हैं ! मैं सभी युवाओं को शुभकामनाएं देता हूँ की उनको उनका सच्चा प्रेम अवश्य मिले ! किन्तु मैं एक गुजारिश अपने सभी युवा साथियों से करना चाहता हूँ !  आज जितना  जोश आप अपने प्रेम का इजहार करने के लिए दिखा रहे हैं उतना ही जोश आप अपने परिवार,समाज और देश के लिए दिखाएँ ! आज प्रकृति भी आपसे प्रेम का इजहार चाहती है ! वो चाहती है आप थोडा सा प्रेम उससे भी करलें , आप थोडा सा प्रेम उससे करेंगे वो आपको उससे कहीं ज्यादा उस प्रेम का प्रतिफल  देगी ! आज  आपका समाज आपसे अपने लिए प्रेम का इजहार मांग रहा है ! समाज चाहता है आप समाज मैं फैली हुई बुराइयों को दूर करने में  समाज का सहयोग करें ! रूडी वादी परम्पराएँ जिस तरह आज भी हमारे बीच विद्यमान है उन्हें खत्म करने में अपना योगदान दें ! इस देश को आपसे बहुत उम्मीदें हैं आज जो देश की स्थिति है वो बहुत ही ख़राब  है ! अगर इस देश का युवा जाग्रत होता तो देश का नाम बड़े-बड़े घोटाले , भ्रष्टाचार में यूँ पूरे विश्व में बदनाम ना होता ! आज जिस तरह विदेशी ताक़तें हमें कमजोर करने पर तुली हुई हैं ! देश में बढ़ती आतंकवाद  , नक्सलवाद , ऑनर किलिंग जैसी घटनाएँ हमें आगे बढ़ने से  रोक रही हैं ! युवा इस देश का भविष्य हैं ! ये देश और समाज आपका है ! आप ही इस देश का वर्तमान हो और आप ही भविष्य ! आप अपने प्रेम का इजहार अपने परिवार से भी कीजिये क्योंकि आपका परिवार भी आपको बहुत प्रेम करता है ! माता-पिता , भाई-बहन , दोस्त यार ! 
 युवाओं आपसे गुजारिश है आप परिवार के सभी सदस्यों को  "  वेलेनटाईन डे " पर शुभकामनाएं दीजिये ! क्योंकि ये प्रेम के इजहार का दिन है ! तो इजहार अवश्य कीजिये ...............

धन्यवाद 

9 comments:

  1. Bilkul sahee kaha...premka izhaar to sabheese karna chahiye! Na ki kewal apne priytamse ya priytamase!

    ReplyDelete
  2. प्रेम उत्सव की तैयारी..

    ReplyDelete
  3. आज का युवा सच्चा प्रेम करता ही कहाँ है? हर लड़का १० लड़कियों से प्रेम का इज़हार करेगा. हर लड़की १५ लड़कों को प्रेम का संदेश भेजेगी. प्रेम के नाम पे क्या क्या होता है हमारे आज के समाज में, यह कहने के लिए यह स्थान उचित नहीं. प्रेम तो मज़ाक बन के रह गया है. सच्चे प्रेम का मैं भी समर्थन करता हूँ, पर अब ये मिलना विरल है. आज का युवा सिर्फ़ एक चीज़ सोचता है, USE, THROW & FIND a new one. There are plenty of options available.

    ReplyDelete
  4. सर,
    प्रेम की सही परिभाषा समझाते हुये आपने जो लिखा सत्य हें क्यों की संसार में प्रेम की एक अलग ही भूमिका रही हें जेसे कि शाजहाँ- मुमताज ,हीर- रांजा,लेला- मजनू और भगवान श्री कृष्ण- राधा भी प्रेम के प्रतीक हें ओर सरवन जिसने अपने माता पिता की सेवा में अपना जीवन समाप्त कर लिया था और सबसे बड़े प्रेमी वो हें जो अपने देश से प्रेम करते थे जेसे की चन्द्र शेखर आजाद ,भगत सिंह ,महात्मा गाँधी,ओर भी जिन्होंने देश से प्रेम किया और डॉ.वीम राव आंबेडकर साहब जिन्होंने अपने समाज से प्रेम किया ओर इनका प्रेम आज भी अमर हें | उसी प्रकार सर आपके कहे अनुसार युवाओ को अपने प्रेमी के साथ -साथ अपने माता पिता,परिवार,समाज ,यार,प्रकर्ति ओर देश से भी प्रेम करना चाहिए जिससे की प्रेम का अस्तित्व इस दुनिया में हमेशा बना रहे |

    प्रेषक -शंकर

    ReplyDelete
    Replies
    1. @ शशांक से पूरी तरह से सहमत हूँ संजय जी

      Delete
  5. लेकिन प्रेम का इजहार जरूर करना चाहिए

    ReplyDelete
  6. आपकी इस प्रविष्टी की चर्चा आज के चर्चा मंच पर की गई है। चर्चा में शामिल होकर इसमें शामिल पोस्ट पर नजर डालें और इस मंच को समृद्ध बनाएं.... आपकी एक टिप्पणी मंच में शामिल पोस्ट्स को आकर्षण प्रदान करेगी......

    ReplyDelete
  7. बसंत की जवानी है होरी
    छोरा-छोरी के मन को
    रंगती है होरी
    बच्चों को
    सबसे अधिक भाती है होरी
    बूढ़ों को अतीत में ले जाती है होरी
    गोजा पपड़ियों से भी
    जानी जाती है होरी
    सिर्फ तन को ही नहीं
    मन के भी
    वैर का मैल धोकर
    प्रेम के रंग में रंग जाना है होरी
    कुंवारे मन को गुदगुदा कर
    भावी जीवनसाथी के
    सपने सजाती है होरी
    हर तरह के नकारात्मकता को जलाने
    और
    सकारात्मकता के उल्लास के साथ
    जीवन में आगे बढ़ने का नाम है होरी

    समस्त साथियों को परिवार सहित होली की बहुत बहुत ढेरों शुभकामनाएं , यह पर्व आपके जीवन में खुशियाँ और उमंग लेकर आये ..........

    ReplyDelete