Friday, January 25, 2013

तंत्र ......... जनतंत्र ....... गणतंत्र ....... >>> संजय कुमार

सभी मित्रों , साथियों एवं देशवासियों को गणतंत्र दिवस की बहुत बहुत बधाई , ढेरों अनेकों शुभ-कामनाएं ! इस एक दिन के राष्ट्रीय पर्व पर अपने दिलों में राष्ट्र-प्रेम की भावना जाग्रत करें ! इस एक दिन के पर्व को आप बड़े ही जोश और उत्साह के साथ मनाएं ! एक दिन के लिए ही सही हमें अपने दिलों में देशभक्ति का जज्बा भर लेना चाहिए और विरोधी ताकतों , देश के दुश्मनों को ये अहसास दिला देना चाहिए कि , हम आज भी अपने देश के लिए मर मिटने को सदैव तैयार रहते हैं ! हम भारतीय जिस एकता - अखंडता , सभ्यता - संस्कृति के लिए पूरे विश्व में जाने जाते हैं , वो बात आज भी हमारे बीच मौजूद है  जिसे कोई तोड़ नहीं सकता ! वर्ना देश के ठेकेदार , धर्म के ठेकेदार आज ऐसी कोई भी कसर नहीं छोड़ रहे हैं हमारी एकता , अखंडता को खत्म करने की ! इसलिए हमारे दिलों में राष्ट्र-प्रेम का जज्बा सिर्फ एक दिन के लिए ही नहीं बल्कि जीवन पर्यंत तक  हम भरतीयों में होना चाहिए ! आज हमारे देश के जो हालात हैं वो किसी से छुपे नहीं हैं ! कुछ गैर पेशेवर ताकतें इन हालातों का फायदा उठाकर हमें जाति - धर्म - संप्रदाय के नाम पर लड़ाकर अपनी रोटियां सेंकना चाहती हैं ! क्या आप ऐसा होने देंगे ...? हमारे बीच अपनों के लिए एक नफरत की गहरी खाई खोदना चाह रहे हैं ! क्या आप ऐसा होने देंगे ....?  हम सच्चे भारतीय इस बात को अच्छे से जानते हैं और इसीलिए हम किसी के बहकावे में नहीं आते , हम आज की गन्दी और ओछी राजनीति से भली-भांति परिचित है कि , आखिर वो क्या चाहती है ? इसलिए हमारे सब्र का पैमाना किसी के तोड़ने से नहीं टूटता ! हम जानते हैं आज देश के बड़े राजनीतिज्ञ , बड़े धर्माधिकारी , संप्रदाय प्रमुख अपने घटिया बयानबाजी  से इस देश के माहौल को और ख़राब कर रहे हैं ! फिर भी हमें बहुत संयम रखना होगा समझदारी का परिचय देना होगा ...... ये बताना होगा की हमारे लिए इस राष्ट्र से बढकर कोई और नहीं , क्योंकि हमने इस देश की मिटटी में ही जन्म लिया और अपना बचपन यहीं बिताया है ........ इस देश में रहकर ही हमने अपना और अपने परिवार का भरण-पोषण किया है ! हमें नाम , शोहरत और इज्जत इसी देश में मिली है ! इसलिए ये राष्ट्र हम सभी के लिए प्रथम है उसके बाद अन्य ......... हमें अपने सभी देशवासियों में राष्ट्र - प्रेम की भावना को जगाना होगा और ये जिम्मेदारी हम सभी की है ! हम सभी बचपन से लेकर बुढ़ापे तक सभी जिम्मेदारियों का निर्वाह , अपने कर्तव्यों का पालन जिस तरह करते हैं ठीक उसी तरह इस राष्ट्र के प्रति भी हमारी कुछ जिम्मेदारी और कर्तव्य हैं जिनके प्रति हम शायद ही कभी सोचते हैं या कुछ करते हैं ..... अगर आज देश का हर नागरिक देश के प्रति अपने कर्तव्यों का पालन करने लगेगा अपनी जिम्मेदारी देश के प्रति समझेगा तो समझ लीजिये मेरे देश जैसा शायद ही कोई देश हो ........ शायद ऐसा पहले था तभी तो हम कहते थे  " मेरा भारत महान " किन्तु अब ऐसा नहीं लगता !

क्या आप नहीं चाहेंगे की  फिर से  " मेरा भारत महान " बने ....... तो फिर हमें अपने अन्दर राष्ट्र-प्रेम की भावना को ऐसे जलाना होगा जो किसी भी आंधी-तूफ़ान के बुझाये ना बुझ सके !

 हम सभी देशवासियों के लिए ये दिन सिर्फ २६ जनवरी का दिन ना होकर " राष्ट्रीय पर्व " का दिन होना चाहिए ! देश के समस्त नागरिकों को गणतंत्र - दिवस राष्ट्रीय पर्व की बहुत बहुत ढेरों -अनेकों शुभ-कामनाएं

" जय-हिंद " वन्दे-मातरम्  " जन-गण -मन  "

धन्यवाद 

12 comments:

  1. प्रभावशाली ,
    जारी रहें।

    शुभकामना !!!

    आर्यावर्त
    आर्यावर्त में समाचार और आलेख प्रकाशन के लिए सीधे संपादक को editor.aaryaavart@gmail.com पर मेल करें।

    ReplyDelete
  2. आपकी इस प्रविष्टी की चर्चा कल शनिवार (26-1-2013) के चर्चा मंच पर भी है ।
    सूचनार्थ!

    ReplyDelete
  3. सभी देशवासियों को हार्दिक शुभकामनायें ...कोशिशें सबको मिलकर ही करनी होंगीं ....

    ReplyDelete
  4. मंगलवार 29/01/2013को आपकी यह बेहतरीन पोस्ट http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर लिंक की जा रही हैं .... !!
    आपके सुझावों का स्वागत है .... !!
    धन्यवाद .... !!

    ReplyDelete
  5. जय हिन्द ,देश भक्ति के इस जज्बे को सलाम आलेख के माध्यम से एक बेहतरीन सन्देश दिया है ,ये जज्बा यूँ ही बना रहे शुभ कामनाएं एवं आशीर्वाद

    ReplyDelete
  6. राष्ट्रीय पर्व की ढेरों शुभकामनायें आपको भी।

    ReplyDelete
  7. बहुत बढ़िया -

    शुभकामनायें-
    गणतंत्र दिवस की -

    ReplyDelete
  8. देश के 64वें गणतन्त्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ!
    --
    आपकी पोस्ट के लिंक की चर्चा कल रविवार (27-01-2013) के चर्चा मंच-1137 (सोन चिरैया अब कहाँ है…?) पर भी होगी!
    सूचनार्थ... सादर!

    ReplyDelete

  9. गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाए,,,
    recent post: गुलामी का असर,,,

    ReplyDelete
  10. गणतन्‍त्र को जीवित रखने का आओ प्रयास करें।

    ReplyDelete
  11. अति सुन्दर ,भावपूर्ण रचना ...

    ReplyDelete