Friday, August 14, 2015

नेता तुम्हीं हो कल के .( आजादी का पर्व , स्वतंत्रता दिवस बधाई ,शुभ-कामनाएं ) ...>>> संजय कुमार

हम भारतवासी अंग्रेजों से अपनी आजादी की ६८ बीं सालगिरह का जश्न मना रहे हैं ! आजादी के इस पर्व को मनाने के लिए हम उन सभी वीर-सपूतों , क्रांतिकारियों , स्वतंत्रता सेनानियों को शत शत नमन करते हैं जिन्होंने अपने प्राणों का वलिदान देकर इस मातृभूमि को अंग्रेजी सरकार से आजाद कराया था ! 
१९६१ में आई दिलीप साहब - वैजन्ती मालाजी  की फिल्म " गंगा -जमुना " का ये गीत " इंसाफ की डगर पे बच्चों दिखाओ चल के , ये देश है तुम्हारा नेता तुम्हीं हो कल के " .... पिछले ५३ सालों से लगातार हम इस गीत को सुनते आ रहे हैं , और आगे भी सुनते रहेंगे ,  सिर्फ और सिर्फ  स्वतंत्रता -दिवस, गणतंत्र -दिवस , गांधी जयंती और ऐसे ही किसी अन्य " राष्ट्रीय पर्व " पर ! पिछले ३०-४० सालों में हमारे देश की राजनीति में जो तेजी से बदलाव आये हैं वो हमारे लिए एक चिंतनीय विषय है ! जिस तरह की राजनीति आज हमारे देश में चल रही है , उससे इस देश का कम  नेताओं का भला कुछ ज्यादा हो रहा है ! हंगामा , विरोध , बयानबाजी , स्तरहीन शब्दों का प्रयोग , धर्म-मजहब , हिन्दू-मुस्लिम मुद्दा , पक्ष -विपक्ष का गैर जिम्मेदार रवैया , संविधान का मजाक , कानून से खिलवाड़ ये सभी आज की गन्दी राजनीति का एक अहम हिस्सा है , इसके बिना शायद ही हम आज के नेता और राजनीति की कल्पना कर सकें ! पिछले ३०-४० दशकों में इस देश में जो भ्रष्टाचार , घोटाले  और जनता के साथ विश्वासघात हुए हैं उसे देखते हुए आज देश की जनता में नेताओं और राजनीति को लेकर एक अविश्वास का माहौल व्याप्त है ! लेकिन ये भी सच है कि , पिछले कुछ बर्षों में देश की राजनीति में " युवाओं " का आगमन बहुत तेजी से हुआ है शायद इस देश का युवा जाग्रत हो गया है  और जो इस देश से भ्रष्ट और गन्दी राजनीति का सफाया कर सके , या फिर अपनी आधुनिक और युवा सोच से भ्रष्ट राजनीति में कोई बदलाव ला सके ! या फिर आज का युवा राजनीति में अपना भविष्य सिर्फ  पावर , अत्यधिक पैसा और  ऐशो-आराम के लिए देख रहा है ! खैर ये तो वक़्त बताएगा कि , आज का युवा कितना शशक्त और जिम्मेदार है ! सच तो ये है कि , आज भी हिंदुस्तान का एक बहुत बड़ा वर्ग ऐसे युवाओं का है जो इस देश के नेताओं और राजनीति से कोई सरोकार नहीं रखती , बल्कि राजनीति को बहुत ही घृणित दृष्टि से भी देखती है , ऐसा इसलिए भी है,  क्योंकि ऐसे कई युवाओं का इस्तेमाल देश के नेता अपनी राजनीतिक रोटियां सेंकने में लगे  हुए हैं " Use & Throw " कई बार ऐसे  युवा भ्रष्ट राजनीति का शिकार भी हुए हैं जिनसे उनके भविष्य पर एक प्रश्न-चिन्ह सा लग गया !
आज के बच्चे और युवा आने वाले कल का भविष्य हैं जो आगे चलकर इस देश की कमान संभालेंगे IAS-IPS , इंजीनियर , डॉक्टर , वैज्ञानिक, खिलाड़ी , और नेता बनकर इस देश का नाम विश्व स्तर पर रौशन करेंगे ! एक बड़ा सच ये भी है कि , आज कोई भी माता-पिता अपने बच्चों को नेता  बनने के लिए ना तो प्रेरित करता है और ना ही कोई प्रयास करता है , यहाँ तक की राजनीति के बारे बात तक नहीं करते , सिर्फ " राजनीतिक घरानों " में ऐसा होता है जहाँ सिर्फ " राजनीति " होती है और कुछ नहीं ……… हालांकि नेता बनने के लिए किसी भी प्रकार की शिक्षा और डिग्री की आवश्यकता नहीं होती बल्कि असली नेता तो जन्मजात होते हैं ! सच तो ये है की सच्चा नेता बनना तो एक जज्बा है जो समाज और देश के लिए कुछ करने के लिए दिल से पैदा होता है ! अगर इस देश की तस्वीर बदलनी है , इस देश में फैले भ्रष्टाचार , बेईमानी , घूसखोरी  को खत्म करना है , इस देश में फैले धर्मों के वर्गीकरण , जात -पात का भेद , धर्म के नाम पर बहने वाले खून को यदि रोकना है , दहेज़ प्रथा , कुप्रथा ,तंत्र-मन्त्र के नाम पर दी जाने वाली मासूमों की बलि , समाज में व्याप्त बुराईयों को खत्म करना है तो युवाओं को आगे आना होगा और अपने समाज और देश के लिए तन मन से अपना महत्त्वपूर्ण योगदान देना होगा ! 
क्योंकि ……………ये देश है तुम्हारा नेता तुम्हीं हो कल के ……… 

एक बार फिर से मैं आप सभी को  " स्वतंत्रता दिवस " की ढेर सारी बधाइयाँ और शुभ-कामनाएं देता हूँ !

जय हिन्द …… वन्दे मातरम् ………  इन्कलाब जिन्दाबाद …… जय हिन्द

धन्यवाद 
संजय कुमार 


14 comments:

  1. बहुत सुन्दर विचारपूर्ण लेख , हार्दिक शुभकामनाएं संजय जी !

    ReplyDelete
  2. सही कहा आपने , संजय जी ! नेता और नेतागिऋ के भरोसे कब तक ????

    ReplyDelete
  3. आज की बुलेटिन, वन्दे मातरम - हज़ार पचासवीं ब्लॉग-बुलेटिन में आप की पोस्ट भी शामिल की गई हैं । सादर

    ReplyDelete
  4. विचारपूर्ण लेख

    ReplyDelete
  5. इस रचना के लिए हमारा नमन स्वीकार करें

    एक बार हमारे ब्लॉग पुरानीबस्ती पर भी आकर हमें कृतार्थ करें _/\_

    http://puraneebastee.blogspot.in/2015/03/pedo-ki-jaat.html

    ReplyDelete
  6. जन्मदिन की बहुत बहुत हार्दिक शुभकामनाएं!

    ReplyDelete
  7. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  8. Very nice massage proud of you Sanjay Sir

    ReplyDelete
  9. जन्मदिन की बहुत बहुत हार्दिक शुभकामनाएं!

    ReplyDelete
  10. This is Very very nice article. Everyone should read. Thanks for sharing. Don't miss WORLD'S BEST Game

    ReplyDelete